कौन है मनीष कश्यप ? Twitter पर क्यों हो रहा है ट्रेंड !

3.2/5 - (4 votes)

ट्विटर पर आज #isupportmanishkashyap नंबर 1 पर ट्रेंड कर रहा है…. ये मनीष कश्यप (Manish Kashyap) एक ऐसा तोपखाना है जिसके समर्थन में नंबर वन ट्रेंड ब्रांड चलाया जा रहा है..? शिव मंडल नाम के ये लोग उनके समर्थन में कह रहे हैं- “भारत के नंबर 1 ट्रेंडिंग #I_Support_Manish_Kashyap, एक बार फिर रूढ़िवादी, राष्ट्रवादी पत्रकार मनीष कश्यप जीत गए” …. रूढ़िवादी हिंदू भारव कुमार ने कहा “मनीष कश्यप भाई हैं। आवाज बुलंद होगी, यह नहीं है 8वीं में फेल होने वाला कोई भी व्यक्ति जो इसे रोक नहीं सकता है। बिहार को लुटने वालों से बचाओ। इसके लिए हम सभी युवाओं को आगे आना होगा। वैसे ही मनीष कश्यप के सपोर्ट में लोग खूब ट्वीट कर रहे हैं… लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जो इस शख्स को कोस रहे हैं.

कौन है मनीष कश्यप ?

मनीष कश्यप (मनीष कश्यप) खुद को बिहार का बेटा बताते हैं…। मनीष बिहार के चंपारण का रहने वाला है, वैसे तो उसने 2016 में पुणे की सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी से सिविल इंजीनियरिंग में बीई की डिग्री ली थी, लेकिन यूट्यूब चैनल बनाकर माइक पकड़ा और पत्रकार बन गया! उनके YouTube चैनल पर अब 6 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं,,,।एकदम लफंदर बाजी, चिल्लम मिर्च, और गली गलौज वाले अंदाज मिस्टर जर्नलिस्ट को रिपोर्ट कर रहे हैं! ….हमारा मतलब तथाकथित पत्रकार साहब..,. गली गलौज वाली वीडियो तो कसम से ऐसी होती है कि क्या ही कहे जाए….इसी से इन बिहार में इनकी तगाड़ी फैन फॉलोइंग है…! 2020 में इनका राजनीति का जुनून भी खराब हो गया.. बिहार की चनपटिया विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़े, लेकिन हार गए बेचारे!

कुछ दिनों पहले मनीष कश्यप का नाम तब सामने आया था जब तमिलनाडु में बिहार के प्रवासी मजदूरों पर हमले के फर्जी वीडियो और खबरें वायरल होने लगी थीं। जिसमें एक शख्स रोते हुए बता रहा है कि तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों पर किस तरह अत्याचार हो रहा है….लेकिन बाद में ये वीडियो लीक हो गया….एक और वीडियो सामने आया जिसमें ये मजबूर शख्स हंस रहा था…और इमोशनल एक्टिंग से पहले अपनी थोड़ी प्रैक्टिस कर रहा था.. इस वीडियो में चंदर नाम के यूजर को और कन्फ्यूजन लगा… ट्वीट कर दो फोटो पोस्ट की और लिखा “पहला वीडियो 2 दिन पहले अपलोड किया गया था. स्क्रीनशॉट में देखा है. इसमें एक बैंडेज पहने हुए शख्स को तकलीफ हो रही है.

दूसरा वीडियो 14 घंटे पहले का है. इस वीडियो में पीड़िता है लंगर डाला…. चोट का कोई निशान नहीं। 30 घंटे। में अग्युद्य की खोटर भी है है गी अर वो अनकर को भी बी गाया गया गया गी अगी गीगे गी गी अगी गुजी महान टोपी बाज़ आदमी है! ..वीडियो के फर्जी होने का पता चला तो बिहार पुलिस हरकत में आई और यूट्यूबर मनीष कश्यप के खिलाफ एफआईआर दर्ज की….अब बिहार पुलिस की एक टीम कुल 30 फर्जी वीडियो और सोशल मीडिया पोस्ट के साथ इस मामले की जांच कर रही है.पुलिस ने इन वीडियो को हटाने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को नोटिस भी जारी किया।

फेसबुक को 9, ट्विटर और यूट्यूब को 15-15 नोटिस दिए गए हैं। जीमेल को तीन नोटिस भी भेजे गए थे। . …. अब मनीष पर गिरफ्तारी की तलवार लटक चुकी है, उनके प्रशंसक समर्थन में आ गए हैं,… लेकिन कई लोग हैं जो मनीष की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं, लेकिन मनीष कश्यप खुलेआम बिहार सरकार को चुनौती दे रहे हैं कि अगर मैं गिरफ्तार किया गया तो मैं सरकार नहीं होने दूंगा! Reads more – पढ़िए विराट कोहली की फिल्मी लव स्टोरी

दोस्तों खुद को पत्रकार बताने वाले मनीष कश्यप का आपराधिक रिकॉर्ड भी कमाल का है। उनके चुनावी हलफनामे को देखने पर पता चला कि मनीष के खिलाफ कुल 6 मामले दर्ज हैं. इनमें सामूहिक गुंडागर्दी, रेलवे संपत्ति को नुकसान और धोखाधड़ी जैसे गंभीर मामले शामिल हैं। कई बार गिरफ्तार भी हो चुका है मनीष… लेकिन न जाने क्या है राज, सजा से बच जाता है! मनीष के ऐसे सैकड़ों वीडियो हैं जिनमें वह बिहार की जनता और वहां की व्यवस्था के खिलाफ बोलता नजर आ रहा है.. 2019 में उसने पश्चिम चंपारण जिले के एक अस्पताल के अंदर किंग एडवर्ड-VII की मूर्ति को तोड़ा….तब मनीष ने शेयर किया था सोशल मीडिया पर इसके वीडियो और तस्वीरें और ‘राष्ट्रवाद’ के नाम पर मूर्तियों को तोड़ने का समर्थन किया था… मुक़दमा भी दर्ज किया गया लेकिन सज़ा नहीं दी गई!

अब मित्रो एक मजे की बात और सुनिए…. इनके फर्जी वीडियो और पत्रकारिता में मनीष कश्यप का नाम भी जाना जाता है… इनका असली नाम त्रिपुरारी KR तिवारी है… ये अपने नाम के आगे मनीष कश्यप भी लिखते हैं! Reads more – ms dhoni: माही का देसी अंदाज, ट्रैक्टर चलाते धोनी, किसानों के साथ खेत जोतते हुए वीडियो वायरल

Leave a Comment