जित और हार आपकी सोच पर निर्भर करती हैं मान लो तो हार होगी और ठान लो तो जित होगी.

जीवन की सबसे बड़ी ख़ुशी, उस काम को करने में हैं, जिसे लोग कहते हैं. “तुम नहीं कर सकते”

खुद को इतना कमजोर मत होने दो, की तुम्हे किसी के एहसान की जरुरत हो.

दर्द, गम, डर जो भी है बस तेरे अंदर हैं. खुद के बनाये पिंजरे से निकल कर देख तू भी एक सिकंदर हैं.

जिंदगी में आप कितनी बार हारे ये कोई मायने नहीं रखता क्यूंकि आप जीतने के लिए पैदा हुए हैं!

बारिश की बूँदें भले ही छोटी हों. लेकिन उनका लगातार बरसना बड़ी नदियों का बहाव बन जाता है. वैसे ही हमारे छोटे छोटे प्रयास भी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन ला सकते हैं.

जीवन की सबसे बड़ी ख़ुशी, उस काम को करने में हैं, जिसे लोग कहते हैं. “तुम नहीं कर सकते”

मैं वो खेल नहीं खेलता जिसमे जीतना फिक्स हो, क्योंकि जीतने का मजा तब हैं, जब हारने का रिस्क हो.